महान भवूतीयों के गुणों को ग्रहण करना

यह रेकी का ही कमाल है कि आप पहुंचे हुए महा-पुरूषों के गुणों को अपने भीतर उतार सकते हो। वह व्यक्ति भूतकालीन हों या फिर वर्तमान में। जैसे बुद्ध, महावीर कृष्ण, नानक, ईशू, प्रेम के सद्गुणों के स्तर पर, कला के स्तर पर कालीदास, साहस की पद्धति पर विवेकानंद आदि। किसी भी महान भवूती विशेष के गुणों का आवाह्य करके हम अपने में समाहित कर सकते हैं। विधिः
  1. व्यक्ति तथा उसके विशेष गुणों की कल्पना करो।
  2. दूर उपचार सिंबल का प्रयोग करके उस व्यक्ति विशेष से संपर्क स्थापित करो तथा उसके सह गुणों का आवाह्य करो तथा अपने अन्दर स्थापित करो।
  3. अपने दिमाग में उस व्यक्ति विशेष के गुणों को स्पष्ट रूप् में क्रियाशील होते हुए अनुभव करो। कुछ दिनों में ही हमें उन गुणों की सकारात्मकता अपने अन्दर महसूस होगी।

Leave a Reply

X