क्वाटर््स क्रिस्टल

भूमि के गर्भ में से प्राप्तयोग, दुसरे नं. पर जो धातु आती है वह क्रिस्टल क्वाटर््स है। यह ईश्वर द्वारा प्रदान की गयी वह आलौकिक वस्तु है जो विज्ञान में एक आन्दोलन लेकर आई है। यदि मानव ने ेचंबम में जो उन्निती की है उसकी प्राप्तिी में एक बड़ा योगदान क्वाटर््स क्रिस्टलज़ का है। आज की संचार-व्यवस्था इस के बिना सम्भव ही नहीं थी। चिकित्सा सूचनायें इस के उपयोगी गुणों का भरपूर बखान करती हैं। भौतिकता के दृष्टिकोण से यह धरती में करोड़ों वर्षों से पड़े पानी का स्थूल (थ्वेेपसप्रमक) रूप है। इसकी उपयोगिता हजारों वर्षों से होती आ रही है। पहले पहल यह प्रतिभाशाली लोगों के हाथों में आई, जिन्होनें इस के गुणों को समझा तथा वास्तव में इसका प्रयोग किया। कई चालाक किस्म के लोगों ने, इसका प्रयोग भोलेभाले लोगों पर कर, उनकों मूर्ख बना कर अपनी रोटी अर्जित की। सिलीकोन तथा बालु के विशेष दबाव तथा प्रस्थितियों की रसायनिक प्रक्रिया ने इसको यह रूप दिया है जिसको ेपसपबवद कपवगपकम कहा जाता है। इसका गुणात्मक पहलु यह है कि यह ऊर्जा को बड़ा करती है, फैलाती (ंउचसपपिमे), बदलती (जतंदेवितउम), संचित (ेजवतमे), और केन्द्रित (थ्वबनेमे) करती है। इसको विशेष आकारों प्रकारों में काटा जाता है जिससे इसकी बिजली को अनोखे रूपों में तरंगित करने की विशेषता बढ़ जाती है। यह सूर्ययी ऊर्जा को बिजली में परवर्तित करता है जो कम्पयुटर के याद-प्रबंधन (उमउवतल) को धड़कन प्रदान करता है। हम सभी जानते हैं कि सही तथा स्टीक घड़ीयां क्वाटर््स की ही कलाकारी हैं। लेजर में इसका प्रयोग और भी अलग रूप में होता है जो नाजुक आँखों की सर्जरी के लिए प्रयोग किया जाता है। अध्यात्मिक गुणः रेकी में क्वार्टस क्रिस्टल का विशेष स्थान है। हमारे मानसिक ऊर्जा स्तर पर इसका असर यह है कि यह चेतना के बदले स्वरूप से हमारा परिचय करवाता है। यह किसी भी दूरी ओर किसी भी स्थान पर ऊर्जा को फैलाव (ंउचसपचीपमे), बदलाव (जतंदेवितउे), संचित (ेजवतमे) और केन्द्रित करके (विबनेम), भेज सकता है। इसके अतिरिक्तः-
  1. ऊर्जा को बढ़ाता है (ंउचसपपिमे)
  2. नकारात्मक ऊर्जा को रोकता/बन्दित करता है।
  3. इसको प्रोग्राम करके हम अपने स्वास्थ, अपने संबंधों, अपनी सफलता (चतवेचमतपजल), मनो-शक्ति, चक्र तथा कुण्डलिनी को जाग्रत कर, अध्यात्मकता को शक्ति प्रदान कर सकते हैं और नकारात्मक भावुकता से संतुलन एवं सुरक्षा प्राप्त कर अनेक रोगों से गतीशील मुक्ति पा सकते हैं। हम अपने जीवन में जो कुछ क्वाटर््स क्रिस्टलज से प्राप्त कर सकते है:-
  4. पानी को शुद्ध एवं चार्ज करना।
  5. पेड़ पौधों की उरवर शक्ति को बढ़ाना।
  6. घरेलु वस्तुओं को ऊर्जान्वित करना।
  7. यादशक्ति एवं मानसिकता को प्रफुल्लित करना।
  8. फूलों, फलों, सब्जियों तथा दूसरे खाद्य पदार्थ के गुणों को बनाये रखना।
  9. शक्तिशाली क्रिस्टल गरिड द्वारा दूर उपचार विधी को लगातार संचालित रखना। आदि इसके गुणों को एक विशेष परिधी में बांधना सम्भव नहीं है। क्रिस्टल की शुद्धी एवं नकारात्मक ऊर्जा से छुटकारा क्रिस्टल को हम निम्नलिखित अनुसार शुद्ध कर सकते हैः-
  10. नमक वाले पानी में क्रिस्टल को भिगो के रखना चाहिए, इस प्रकार 24 घंटे नमकीन पानी में पड़े रहने के बाद, क्रिस्टल को साफ सुथरे कपड़े से पौंछ करके सुखाना चाहिए।
  11. यदि 24 घंटे का समय ना हो तो जरूरी सफाई के लिए ) घंटे के लिए क्रिस्टल को नमकीन पानी में भिगो कर रखने के बाद साफ कर लिया जाता है।
  12. नकारात्मक ऊर्जा से छुटकारा पाने के लिए इसे बर्फ वाले ठण्डे पानी से धो लेना चाहिए।
  13. रेकी के शक्ति सिंबल (च्वूमत ेलउइवस) चो-कु-रे से भी शुद्ध किया जा सकता है। नोट: क्रिस्टल को शुद्ध करने के लिए गर्म पानी का प्रयोग बिल्कुल नहीं करना चाहिए। इस प्रकार करने से क्रिस्टल को हानि पहुंच सकती है।

Leave a Reply

X