क्रिस्टल को चार्ज करना (म्उचवूमतउमदज)

क्रिस्टल को चार्ज करने से इसकी शक्ति कई गुणा बढ़ जाती है। नीचे लिखे ढंगों से क्रिस्टल को चार्ज किया जा सकता हैः-
  1. क्रिस्टल को ऊपर बताये ढंगों से शुद्ध करने के बाद तीन रातों के लिए चंद्रमा की (शुक्ल पक्ष) रोशनी में रखो, यह क्रिया उन रातों में करनी है जब चाँद बढ़ रहा होता है।
  2. दोपहर एक बजे से पहले धूप में तीन दिन तक लगातार रखा जाना चाहिए। एक बजे के बाद सूरज ढलना आरम्भ हो जाता है, इस लिए इस समय से पहले क्रिस्टल को धूप में से उठा कर सम्भाल लेना चाहिए।
  3. क्रिस्टल को 24 घंटे के लिए पिरामिड में रखो, अधिक समय के लिए भी रख सकते हैं। समय की कोई पाबंधी नहीं है।
  4. दोनों हाथों को बारी बारी चो-कु-रे बना कर पहले शुद्ध करो, फिर चो-कुरे बना कर चार्ज करो।
  5. अपने बायें हाथ पर तिकोण बना कर क्रिस्टल को तिकोण में रखो फिर क्रिस्टल को चो-कु-रे से शुद्ध एवं चार्ज करो। उपरन्त सिंबल 4$3$2$1 (डाई-कु-मयु $ होन-शा-जे-शो-नैन $ से-हे-की – चो-कु-रे) बनाओ तथा स्थापित करो। दायां हाथ बायें हाथ ऊपर रखो और बोलोः ‘‘हे ब्रह्माण्ड की सभी चिकित्सक शक्तियों इस क्रिस्टल (माला, बरैसलेट, पैनडैंट आदि) को चार्ज करो! हे ब्रह्माण्ड की दिव्य शक्तियों इस क्रिस्टल में प्रकाशमान हो!’’ (प् पदअवाम जीम प्दपिदपजम ।सउपहीजल ूपजीपद जीपे बतलेजंसण् प् ंउ ं बसमंत – चमतमिबज ब्ींददमसण् क्पअपदम सपहीज पे उल ळनपकम) इसके उपरान्त इच्छा/संदेश का उच्चारण करो जैसेः ‘‘यह (जो क्रिस्टल है का नाम लेकर कहो) माला सुमित जी के लिए बिल्कुल चार्जड है। उनके सारे चक्र चार्जड, कलरफुल, एक्टीवेटिड, पोजिटिव हो गयें हैं। उनकी शारीरिक, मानसिक तथा भावनात्मक सभी समस्यायें समाप्त हो गयी हैं। सुमित जी अब बिल्कुल स्वस्थय हैं।’’ 15-20 मिन्ट तक रेकी देवें। उपरान्त कहें, ‘‘मैं इस ऊर्जा को लगातार उपचार के लिए स्थापित करता हूँ, स्थापित हो, स्थापित हो, स्थापित हो।’’
  6. इसी तरह क्वाट्स क्रिस्टल को किसी पूजा स्थान पर रख कर, ध्यान तथा साकारात्मक कल्पना तथा शुद्ध विचारों से भी चार्ज किया जा सकता है।
  7. क्वाटर््स क्रिस्टलों में हैरानीजनक शक्ति यह होती है कि इनकोः-
  8. इच्छा पूर्ती
  9. किसी लक्ष्य, उद्येश्य की प्राप्ती
  10. सफलता प्राप्त करने के लिए मनो-शक्ति को ऊर्जावित करने के लिए
  11. अधिक शारीरिक वजन को कम करने के लिए
  12. काल्पनिक मानसिक डर से छुटकारा पाने के लिए
  13. अन-चाही आदतों से छुटकारा पाने के लिए
  14. धन तथा समृद्धी में बढ़ौतरी के लिए
  15. शारीरिक दर्द से छुटकारा पाने आदि के लिए क्रिस्टल का सुचारू रूप से प्रयोग किया जा सकता है। दर्द से राहत के लिए दोनों हाथों में क्रिस्टल पकड़ो, दायें हाथ वाले क्रिस्टल को दर्द वाले स्थान पर रखो तथा बायें हाथ वाला ठीक दर्द वाले स्थान के पिछले भाग पर रखो 15-20 मिनट तक रखने से आपको आराम मिलेगा।
  16. हमारे आभा मण्डल के अन्दर की अशुद्धीयों को दूर करने के लिए भी क्रिस्टल बहुत कारगर सिद्ध हुऐं हैं। इस विधी से आभा मण्डल के रंगों में विशेष बदलाव देखने में आता है। किसी भी विशेष उद्येश्य की पूर्ती के लिए क्रिस्टल को प्रोग्राम भी किया जा सकता है, ढंग यह हैः- क्रिस्टल को अपने दायें हाथ में पकड़ कर तीसरे क्षेत्र के स्थान पर लगाओ और उद्देश्य को पूरी तरह से अपेनंसप्रम करो और कहोः- ‘‘हे ब्रह्यांड की दिव्य शक्तियों इस क्रिस्टल में प्रकाशमान हों, हमने इस उद्येश्य (उद्येश्य का वर्णन करें) को पूरा करना है, इस काम के लिए मैं ऊर्जाविंत हूँ।’’ इस संकल्प को तीन बार बोलो। हमारे और क्रिस्टल की शक्ति के बीच एक आदान-प्रदान का संबंध है (प्दजमतंबजपवदद्ध। इस तरह ऊर्जानिवित किया हुआ क्वार्टस चाहे शरीर पर पहना हो अथवा हमारे आसपास किसी स्थान पर रखा हो, इसके अन्दर सक्रियाशीलता से हमारा आदान प्रदान बना रहता है। इस तरह की प्रक्रिया के बाद आभा-मण्डल के अन्दर तुरंत बदलाव होता है। यह प्रोग्राम कितनी/कितने समय के लिए होता हैः एक बार प्रोग्राम किये गये क्रिस्टल, महीनों तक ऊर्जा से तरंगत होते रहते हैं। फिर भी यह आवश्यक है कि उपयुक्त परिणाम के लिए यह प्रोग्राम तथा संकल्प हर सप्ताह दोहरा लिया जाए। उद्येश्य पूरा हाने पर क्या करना हैः क्रिस्टल नमकीन पानी या बर्फीले पानी से शुद्ध करके प्रोग्राम-रहित (क्म.चतवहतंउउम) कर लेना चाहिए ताकि प्राप्त हुए उद्येश्य का प्रभाव इससे मिट जाये। क्रिस्टल एक खुशनुमा उपहार है जिससे हम अपने रिश्तेदारों, मित्रों, शुभचिंतकों तथा दोस्तों को प्रोग्राम करके हमारी शुभ भावनायें उनके प्रति व्यक्त कर सकते हैं। उन्हे क्रिस्टल को प्रोग्राम करने की साधारण विधी भी बता सकते हैं। ध्यान योगः
  17. कभी भी अपना क्रिस्टल किसी और के साथ सांझा न करें क्योंकि यह हमारी भावनाओं की तरंगों से ऊर्जाविंत हुआ होता है।
  18. यदि किसी कारणवश किसी दूसरे को अपना क्रिस्टल देना भी पड़ जाये तो क्रिस्टल को क्म.चतवहतंउउम करने के बाद तीन दिन तक नमकीन पानी या बर्फीले पानी से तीन दिन तक शुद्ध किया जाये।
  19. बच्चों की पहुंच से दूर रखें।
  20. किसी ओर को अपने क्रिस्टल के साथ छेड़-छाड़ न करने दें।
  21. क्रिस्टल, प्रोग्रामिंग के बिना रखना अर्थहीन है, हाँ सजावट के लिए रख सकते हैं। क्रिस्टल को अपने लिए परखनाः अपने पूर्वाभास (प्दजनपजपवद) से दिशा प्राप्त करके, उस क्रिस्टल का चुनाव करें जिससे आपकी ऊर्जा एकरूप होती है अथवा वह क्रिस्टल लें जो आपके मन को खूब भाता हो। कीमत के प्रति अधिक न सोचें।

Leave a Reply

X